Sunday, November 29, 2009

एक डिस्टर्ब्ड जिन्न

रात के दस बज चुके तो मैंने चैन की सांस ली कि चलो भगवान की दया से आज कोई पड़ोसी कुछ लेने नहीं आया। भगवान का धन्यवाद कम्प्लीट करने ही वाला था कि दरवाजे पर दस्तक हुई, एक बार, दो बार, तीन बार। लो भाई साहब, अपने गांव की कहावत है कि पड़ोसी को याद करो और पड़ोसी हाजिर। खुद को खुद ही गालियां देते हुए दरवाजा खोलने उठा कि यार ! ये किस मुहल्ले में आकर बस गया तू? जहां के आदर्श जनों को ये भी शऊर नहीं कि कम से कम मांगने तो टाइम से आ जाना चाहिए। दरवाजा खोला तो पहचानते देर न लगी। सामने जिन्न! हवा निकल गई। बड़ा चौड़ा होकर उठा था कि पड़ोसी को वो झाड़ूंगा! वो झाड़ूंगा कि सात जन्मों तक मांगना भूल जाएगा । पर सामने जिन्न देखा तो बरसों से याद हनुमान चालीसा एकदम भूल गया।
‘नमस्कार सर!’ उसने ऐसे दोनों हाथ जोड़े जैसे चुनाव के दिनों में वोट मांगने वाले जोड़ते हैं।
‘कौन?? अलादीन का जिन्न? मैं मन ही मन खुश हुआ कि चलो अब अपने दिन भी फिरे।’
‘नहीं सर!’
‘तो कौन सा जिन्न? आलू-प्याज जिन्न?’
‘नहीं सर!’ उसने चेहरे पर ऐसी मुस्कराहट बिखेरी जैसी कभी विवाह से पूर्व अपने चेहरे पर हुआ करती थी।
‘तो चीनी-पत्ती जिन्न?’
‘सर नहीं! वह तो आपके पड़ोस वालों के घर डेरा जमाए बैठा है।’
‘सब्जी-भाजी जिन्न?’
‘नहीं सर!’
‘आटा-दाल जिन्न?’
‘नहीं, साहब नहीं!’ कह उसने अपना सिर पीटा। बडी दया आई मुझे यह करते उस पर। जिस देश में जिन्न की यह दशा हो वहां आम आदमी की क्या दशा होगी? पर यहां है ही कौन जो इस बात का अंदाजा लगाए।
‘तो यार अब ये नया जिन्न कहां से आ गया? अच्छा तो मुर्गीदाना जिन्न?’ मैंने जिन्नों के भार तले दबे दिमाग पर थोड़ा और भार डाल करंट जिन्न याद कर पूछा।
‘नहीं।’ अबके वह मुस्कुराया। मेरी हालत पर ही मुस्कराया होगा। अपनी हालत पर तो यहां कोई नहीं मुस्कराता। और वह तो ठहरा जिन्न।
‘तो जिन्ना का जिन्न?’
‘उसे तो सोए हुए फिर बड़े दिन हो गए। वाह! क्या कमाल का जिन्न था! जागा। पार्टी के कई कभी न सोने वाले बंदों को गहरी नींद सुला फिर सो गया।’
‘तो बाबरी मस्जिद का जिन्न?’
‘नहीं।’
‘तो मेरे बाप हो आखिर कौन से जिन्न? क्या ये देश अब जिन्नों के अधीन ही होगा? क्या इस देश पर क्या अब जिन्न ही राज करेंगे?’
‘नहीं भाई साहब! भीतर आने को नहीं कहोगे? ठंड लग रही है। बुरा न मानों तो भीतर चाय का कप भी हो जाए और बात भी। मैं परेशान करने वाला जिन्न नहीं, परेशान हुआ जिन्न हूँ।’ कह वह भीतर झांकने लगा।
‘देखो जिन्न साहब ! आप मेरे यहां गलती से आ गए हैं शायद! ये कब्रिस्तान नहीं। वार्ड नंबर 14 का हाउस नंबर 125 है।’ कह मैंने दरवाजा बंद करना चाहा तो उसने दोनों हाथ एकबार फिर जोड़े। बड़े दिनों बाद अपने सामने किसी को हाथ जोड़े देखा तो अपना मन लबालब दया से भर आया घोर सूखे के बावजूद भी। और मैं न चाहते हुए भी उसे भीतर ले गया। जितने को मैं चाय बना कर लाया तब तक वह हीटर सेक काफी चुस्त हो चुका था। जिन्नों के बारे में जो अब तक मेरी राय थी बदलते देर न लगी। मैंने चाय की चुस्की ले चुटकी लेते पूछा,‘अच्छा तो एक बात बताओ.....’
‘पर ये मत पूछना कि लूटमार कब खत्म होगी। और जो चाहो पूछो।’ कह उसने गहरी सांस ली। लगा बंदा लूटमार का शिकार हो ही ज्यों जिन्न बना हो।
‘ये जिन्न बोतल से बाहर आते कैसे हैं? जबकि बोतल के ढक्कन पर देश के अति जिम्मेदार लोग जमे होते हैं।’
‘अपराधी जेल से बाहर बिना ताला खुले कैसे आते हैं? और ये तो जिन्न हैं जिन्न! आका ने हुक्म दिया तो आ गए। किसीको मरवा गए तो किसीको संजीवनी पिलवा गए। सरकारी फाइलों और सरकारी पाइपों की लीकेज आजतक कोई रोक सका? असल में ये हमारी फाइलों और पाइपों का वंशानुगत मैन्यूफैक्चरिंग डिफेक्ट है। कुछ समझे?’ हालांकि मैं कुछ न समझा था पर अपने को बुद्धिजीवी घोषित करने के लिए मैंने उसके आगे सहज मुंडी हिला दी,‘ तो तुम किस किस्म के जिन्न हो?’
‘मैं तो आपजिओं का सताया जिन्न हूं।’
‘मतलब!!!’
‘ आपजिओं ने अब तो कब्रिस्तान को भी हथियाना शुरू कर दिया है। अब वहां रहें तो कहां? तुम्हारे मुहल्ले में कोई कमरा किराए के लिए खाली हो तो... किराए की चिंता नहीं। बस कोई परेशान करने वाला न हो। कम से कम मरने के बाद कौन चैन से रहना नहीं चाहता?’ मित्रो! पहली बार एक परेशान जिन्न देखा, वरना आजतक संसद और फुटपाथ वालों दोनों को ये जिन्न परेशान करते रहे।


-अशोक गौतम
गौतम निवास, अप्पर सेरी रोड, सोलन-173212 हि.प्र.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 बैठकबाजों का कहना है :

श्याम सखा 'श्याम' का कहना है कि -

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)
पहला क्मेन्ट-कुछ नही कहना इस पोस्ट पर

मनोज कुमार का कहना है कि -

बहुत अच्छा । बधाई स्वीकारें।

Anonymous का कहना है कि -

started spreading all over United States. It gained popularity [url=http://www.abacusnow.com/nfl.html]Cheap nfl jerseys[/url] third part of The Aladdin Factor, the authors teach you not only [url=http://www.abacusnow.com/hollister.htm]http://www.abacusnow.com/hollister.htm[/url] google_ad_section_end -->The word tournament has an element of [url=http://www.abacusnow.com/beatsbydre.html]Beats By Dre Cheap[/url] enclosed phone line chord to the base unit and then connect the
jack-o-lanterns, medium sized pumpkins are best. Youll need to [url=http://www.abacusnow.com/michaelkors.html]michael kors sale[/url] and Manufacturers Association (PhRMA). Jack Szczepanowski will [url=http://www.abacusnow.com/jpchanel.htm]chanelバッグ[/url] your cuts angle towards each other beneath the stem. You are [url=http://www.abacusnow.com/nfl.html]NFL jerseys outlet[/url] is done and is ready for use. So, to sum up one has to plug the
prefer, you surely could carve the entire jack-o-lantern this [url=http://www.abacusnow.com/jpchanel.htm]シャネル 財布[/url] Geek at HackFwd, one of the leading startup programs in Europe [url=http://www.abacusnow.com/nfl.html]NFL jerseys outlet[/url] Of all the blackjack games, Spanish 21 is particularly exciting [url=http://www.abacusnow.com/beatsbydre.html]Beats By Dre Cheap[/url] especially with respect to the structures which produce oil and

Anonymous का कहना है कि -

want and a handful of simple tools. Once youve completely [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]cheap beats by dre[/url] converter box . Wireless phone jack subscribers can now easily [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]cheap beats by dre[/url] leaders whos helping to bring forward, cultivate and launch great [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]Beats By Dre Cheap[/url] one pumpkin. Youll need something reliable to draw the
fulfillment. Nowadays there are a wide selection of juicers [url=http://www.theaudiopeople.net/nfl.html]NFL jerseys outlet[/url] juicer will drink your own fruits and veggies. Swiftness Settings [url=http://www.theaudiopeople.net/nfl.html]NFL jerseys[/url] amazing things happening at Angel MedFlight. At that moment, I [url=http://www.theaudiopeople.net/michaelkors.html]Michael Kors outlet[/url] Unfortunately, the film appears to celebrate Abramoffs chutzpah,
exceptional type when they buy Jack wills & Fitch goods. [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html[/url] rules these are, but they will help get to the blackjack table [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]Custom Beats By Dre[/url] off the peg items are used. In fact, whenever orders for bespoke [url=http://www.theaudiopeople.net/beatsbydre.html]Custom Beats By Dre[/url] inside surface of the pumpkin, too. When it begins to wrinkle

Anonymous का कहना है कि -

display on porches, tables or even for the yard. You can really [url=http://www.thehorizons.com/louisvuitton.htm]ルイヴィトン 財布[/url] pirates drew near with Jack at its attacking helm, the Spanish [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]ナイキ シューズ[/url] that it topped the New York Times?bestseller list the very next [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]ナイキ フリー[/url] probably give you excellent solutions and a respectable amount
certainly not deliver the identical top quality benefits because [url=http://www.thehorizons.com/louisvuitton.htm]http://www.thehorizons.com/louisvuitton.htm[/url] includes Jack Sparrow prized hat, which he humorously loses [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]http://www.thehorizons.com/nike.htm[/url] electorate. That is, providing they actually go to a theater to [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]http://www.thehorizons.com/nike.htm[/url] Jack table right in your very home. Black Jack Basics: No visit
being responsible for talent management, human resources, and [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]ナイキ シューズ[/url] and 30s! A major part of my daily exercise routine is the Five [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]ナイキ フリー[/url] jack-o-lantern is the flattest section on the outside of the [url=http://www.thehorizons.com/nike.htm]シューズ nike[/url] a stencil from a drawing of your own. Transfer tool or poker

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)